Bank News: रद्द हुआ इस बैंक का लाइसेंस, RBI के एक्शन से ग्राहकों की बढ़ेगी टेंशन

Bank News: महाराष्ट्र के नासिक जिले में एक बैंक है, जिसका नाम गिरना सहकारी बैंक लिमिटेड है। इसी बैंक का रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा बैंकिंग लाइसेंस खत्म कर दिया गया है और कारण यह बताया गया है कि, बैंक के पास ना तो पर्याप्त मात्रा में पैसा था और बैंक के पास इनकम की कोई भी संभावना नहीं दिखाई दे रही थी।

भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा दिए गए बयान में उन्होंने कहा है कि अब हमने जब इस बैंक के लाइसेंस को खत्म कर दिया है, तो बैंक को तुरंत अपनी बैंकिंग सर्विस को रोकना चाहिए और उसे कोई भी नया पैसा नहीं लेना चाहिए और अपनी बैंक में किसी भी कस्टमर का नया अकाउंट ओपन नहीं करवाना चाहिए। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा यह भी कहा गया है कि महाराष्ट्र राज्य की आयुक्त और पंजीयन के सहकारिता से भी बैंक को बंद करने की रिक्वेस्ट की गई है।

Bank News: रद्द हुआ इस बैंक का लाइसेंस, RBI के एक्शन से ग्राहकों की बढ़ेगी टेंशन

कस्टमर पर प्रभाव

उपरोक्त फैसले से अब सभी जमा करता जमा इंश्योरेंस और क्रेडिट गारंटी निगम से अपने द्वारा जमा किए गए पैसे की ₹500000 तक की जमा बीमा दावा राशि पाने के हकदार होंगे। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा कहा गया है कि, आंकड़ों के अनुसार 99.92 परसेंट जमा करता ने DICGC से अपनी जमा अमाउंट का पूरा पैसा प्राप्त करने का हकदार है। DICGC के द्वारा कुल बीमाकृत जमा अमाउंट में से 16.27 करोड रुपए की पेमेंट पहले ही कर दी है। केंद्रीय रिजर्व बैंक के द्वारा यह भी कहां गया है कि सहकारी बैंक के पास पर्याप्त पूंजी नहीं है और कमाई की संभावना भी नहीं है और यह बैंकिंग विनियमन अधिनियम 1949 के प्रावधान का पालन नहीं कर सकते हैं।

इसके अलावा हम आपको यह भी खबर देना चाहते हैं कि गुजरात के अहमदाबाद में मौजूद कलर मर्चेंट कोऑपरेटिव बैंक की खराब होती आर्थिक सिचुएशन को देखते हुए सरकार ने इस पर बहुत सारे प्रतिबंध लगा दिए है, जिनमें एक कस्टमर को अधिक से अधिक ₹50000 निकालने की ही परमिशन दी गई है। यह प्रतिबंध 25 सितंबर को बैंकिंग बिजनेस डे के बंद होने के बाद लागू कर दिए गए हैं और अगले 6 महीने तक ऐसा ही रहेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top