Delta Corp Share Price Crash: सरकार के एक फैसले से 20% टूटा स्टॉक, जानिए क्या है पूरा खबर

Delta Corp Share Price: कैसीनो चलाने वाली कंपनी डेल्टा कॉर्प के लिए अभी बोहोत खराब समय चल रहा है। मार्केट खुलते ही Delta Corp Share में जबरदस्त बिकवाली शुरू हो गई और कंपनी के शेयर देखते ही देखते 20% टूट गई और प्राइस 140.20 रुपए पर आ गए। यह शेयर का BSE पर 52 सप्ताह का निचला स्तर और साथ ही 33 माह में सबसे लो है। कारोबार के दौरान Delta Corp में लोअर सर्किट लगा।

आइए जानते हैं कि शेयरों में इतना कोहराम क्यों मचा। Delta Corp पर पहले ही 11,140 करोड़ रुपये का GST बकाया होने का आरोप है। और इसे लेकर कंपनी को टैक्स नोटिस जारी भी किया जा चुका है। नोटिस में सरकार की ओर से कंपनी को 11,140 करोड़ रुपये के टैक्स के अलावा ब्याज और टोटल जुर्माना मिलाकर 16,822 करोड़ रुपये भरने को कहा गया है।

Delta Corp Share Price Crash: सरकार के एक फैसले से 20% टूटा स्टॉक, जानिए क्या है पूरा खबर

Delta Corp का बकाया GST है जुलाई 2017 से लेकर मार्च 2022 तक की अवधि का। इस खबर के बाद कंपनी के शेयर 25 सितंबर को शुरुआती कारोबार में पहले 15 प्रतिशत गिरा और बाद में 20 प्रतिशत तक गिर चुका। सुबह Stock BSE पर गिरावट के साथ 157.75 रुपये पर खुला। बिजनेस बाजार खत्म होने पर BSE पर शेयर 18.40 प्रतिशत की गिरावट के साथ 143 रुपये पर सेटल हुआ।

NSE पर यह लाल निशान में 157.90 रुपए पर खुला और ये लगातार गिर रहा था। इस इंडेक्स पर शेयर ने 140.35 रुपये का 52 सप्ताह का सबसे ज्यादा लो टच किया और बाद में 17 प्रतिशत की गिरावट के साथ 145.65 रुपये पर सेटल हुआ जो की इस शेयर के लिए काफी ज्यादा संकट वाली बात है।

मांगा गया टैक्स रिटर्न 10 वर्षों के रेवेन्यु के दोगुने से भी अधिक

Delta Corp से सरकार की ओर से मांगा गया Tax Return कंपनी के पिछले 10 वर्षों के रेवेन्यु के दोगुने से भी अधिक है। हालांकि राहत की बात यह है कि कंपनी पर कोई कर्ज नहीं है। Wealthmills Securities के क्रांति बथिनी कहते हैं कि Short Term Investment को छोड़ दें तो 16,822 करोड़ रुपये का Tax Notice मीडियम टर्म में भी एक बड़ा निगेटिव है।

हालांकि यह आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि भारत में Casino Licencing को नियंत्रित करने वाले नियम कई कारणों से चुनौतीपूर्ण हैं।

Delta Corp कंपनी को GST ने दिया सबसे बड़ा झटका

मोटे अमाउंट के टैक्स नोटिस को देखते हुए Delta Corp के शेयरों में बड़ी गिरावट आने की आशंका है। कंपनी पहले से जिन मुश्किलों से जूझ रही है, उनकी बात करें तो एक महीने पहले इसके मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) ने इस्तीफा दे दिया था। दो महीने पहले कंपनी ने जानकारी दी थी कि उसके Online Gaming कारोबार के आईपीओ को फिलहाल रोक दिया गया है।

टैक्स नोटिस पर डेल्टा कॉर्प कंपनी का रुख

Delta Corp ने टैक्स नोटिस के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि क्लेम किया गया जीएसटी अमाउंट जुलाई 2017 से मार्च 2022 तक कैसीनो में खेले गए सभी गेम्स की ग्रॉस बेट वैल्यू पर बेस्ड है, जबकि नया GST नियम अक्टूबर 2023 से लागू हुआ है।

नोटिस में कहा गया है कि अगर ये डेल्टा कंपनी ब्याज और जुर्माने सहित टैक्स का पेमेंट करने में नाकाम रहती है तो उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। कंपनी ने कहा है कि ग्रॉस Gross Gaming Revenue के बजाय ग्रॉस बेट वैल्यू पर जीएसटी की मांग पूरी इंडस्ट्री के लिए एक इश्यू है और सरकार को पहले ही इस बारे में कई Represents दिए जा चुके हैं।

कंपनी का फ्यूचर को लेकर क्या है राय

एक विशेषज्ञ का कहना है कि जो चीज डेल्टा कॉर्प के लिए मामले को मजबूत बनाती है, वह एशिया की सबसे बड़ी कॉर्पोरेट वकीलों में से एक जिया मोदी हैं। जिया मोदी की शादी डेल्टा कॉर्प के प्रमोटर जयदेव मोदी से हुई है। साल 2010 में जिया और उनके पति ने ने डेल्टा कॉर्प में प्रमोटर के कॉन्ट्रीब्यूशन के तौर पर 70 करोड़ रुपये लगाए थे।

डेल्टा कॉर्पोरेशन के समग्र शेयरधारिता पैटर्न से पता चलता है कि संस्थागत निवेशक भी डेल्टा कॉर्पोरेशन पर दांव लगा रहे हैं। जून 2023 को समाप्त तिमाही में कंपनी में संस्थागत निवेशकों की हिस्सेदारी बढ़कर 6.68 प्रतिशत हो गई, जो मार्च तिमाही में 5.35 प्रतिशत थी। वहीं, घरेलू संस्थागत निवेशकों की हिस्सेदारी 14.50 फीसदी से बढ़कर 18.04 फीसदी हो गई. इतना ही नहीं, तमाम बाधाओं के बावजूद कंपनी गोवा में विस्तार कर रही है। चालू वित्त वर्ष में एक नया जहाज चालू होने वाला है, जो डेल्टिन कारवेल्ला की जगह लेगा और कंपनी की मौजूदा क्षमता को 2.5 गुना बढ़ा देगा। जब दमन का कैसीनो खुलेगा, तो डेल्टा कॉर्पोरेशन अधिक लाभदायक होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top