Diwali: अबकी धनतेरस पर बनेगा अद्भुत संयोग, इस धातु को खरीदे, हो जाएंगे मालामाल

Diwali: दिवाली आने से पहले ही धनतेरस का त्यौहार आ जाता है, जिसे देशभर में हंसी-खुशी के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। धनतेरस के मौके पर सबसे ज्यादा हमारे देश में सोने और चांदी के आभूषणों की बिक्री होती है, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि, इस दिन यदि सोने और चांदी के आभूषण लिए जाते हैं, तो इससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती है, साथ ही कुबेर भगवान भी प्रसन्न होते हैं। ऐसी मान्यता है कि, धनतेरस के मौके पर भगवान धन्वंतरि समुद्र मंथन के दौरान स्वर्ण कलश के साथ प्रकट हुए थे। साल 2023 में आने वाले धनतेरस के मौके पर बहुत सारे शुभ योग का निर्माण हो रहा है, जिसका अच्छा प्रभाव पड़ने वाला है।

Diwali: अबकी धनतेरस पर बनेगा अद्भुत संयोग, इस धातु को खरीदे, हो जाएंगे मालामाल
Diwali: अबकी धनतेरस पर बनेगा अद्भुत संयोग, इस धातु को खरीदे, हो जाएंगे मालामाल

झारखंड के देवघर में रहने वाले प्रसिद्ध ज्योतिष आचार्य पंडित नंदकिशोर के द्वारा कहा गया है कि, साल 2023 में नवंबर के महीने में 10 तारीख को शुक्रवार के दिन धनतेरस का त्योहार अबकी मनाया जाएगा। इस दिन माता लक्ष्मी जी की प्रदोष काल में पूजा आराधना करी जाती है। तकरीबन 50 साल के बाद धनतेरस के मौके पर यम पंचक शिव वास और प्रदोष व्रत का संयोग भी बन रहा है अर्थात इस दिन भगवान शंकर के साथ ही साथ माता लक्ष्मी जी का भी आशीर्वाद प्राप्त होगा और शुक्रवार के दिन धनतेरस पडने से इस दिन चांदी की खरीदारी करना भी काफी ज्यादा अच्छा माना जाएगा।

इस दिन जरूर ख़रीदे चांदी

पंडितों के अनुसार चांदी की खरीदारी अगर शुक्रवार के दिन करी जाती है, तो माता लक्ष्मी जी का आशीर्वाद खरीदारी करने वाले व्यक्ति को प्राप्त होता है। इसलिए आपको शुक्रवार के दिन अर्थात धनतेरस के दिन चांदी की कोई ना कोई वस्तु अवश्य ही खरीदनी चाहिए।

प्रदोष काल में होती है लक्ष्मी पूजा

धनतेरस के मौके पर अबकी बार भगवान भोलेनाथ के साथ माता लक्ष्मी जी की भी पूजा करी जाएगी और इसी दिन लोगों के द्वारा प्रदोष व्रत भी रखा जाएगा। इस प्रकार से धनतेरस के मौके पर माता लक्ष्मी जी का भी आशीर्वाद मिलेगा और भगवान भोलेनाथ का भी आशीर्वाद मिलेगा। धनतेरस के मौके पर अबकी लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त शाम को 5:29 से लेकर के रात को 8:07 तक रहेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top