General Knowledge: चमगादड़ सोते समय पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं?, यहाँ जानें

General Knowledge: चमगादड़ सोते समय पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं?, यहाँ जानें : चमगादड़ तो आपने जरूर देखा होगा। यह छोटा सा जीव अक्सर ही रात के समय पेड़ों पर उल्टा लटका हुआ दिखाई देता है। ज्यादातर यह रात के समय उड़ते रहते हैं और दिन के समय अक्सर पेड़ों से उल्टे लटके हुए दिखाई देते हैं। क्या आपको लगता है कि चमगादड़ सोते भी उल्टे हैं? क्या चमगादड़ को उल्टा लटकना में कोई परेशानी नहीं होती है? आज हम इन्हीं सवालों का जवाब इस पोस्ट में जानेंगे।

General Knowledge: चमगादड़ सोते समय पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं?
General Knowledge: चमगादड़ सोते समय पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं?

विपरीत दिशा में काम करती है चमगादड़ की मांसपेशियां

चमगादड़ की जो मांसपेशियां होती है वह विपरीत दिशा में काम करती है। जब यह उल्टे लटकते हैं तो विशेष मांसपेशियां उनके पैरों को जकड़ लेती है। इसके वजह से उल्टा लटकना में इन्हें किसी भी प्रकार की ताकत नहीं लगानी होती है। इस वजह से उल्टा लटकते हुए भी यह आराम करते रहते हैं और इन्हें कोई परेशानी नहीं होती है।

पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं चमगादड़?

पेड़ पर उल्टा लटकने की वजह से चमगादड़ को उड़ने में आसानी होती है। अन्य पक्षियों की तरह यह जमीन पर उड़ने में सक्षम नहीं है। इसी वजह से पेड़ पर उल्टा लटकने हैं। जमीन से उड़ते समय यह अपने आप को इतना ऊपर नहीं ले जा पाते हैं जितना यह पेड़ से उल्टा लटक कर उड़ते समय लेकर जा पाते हैं। उनके पिछले पर छोटे और अविकसित होते हैं जिसकी वजह से यह जमीन से उड़ते समय खुद को गति नहीं दे पाते हैं।

चमगादड़ सोते समय रात को गिरते क्यों नहीं

बहुत सारे लोगों का यह सवाल होता है कि रात को उल्टा लटक के जब चमगादड़ सोते हैं तो वह गिरते क्यों नहीं है? उनके पैरों की नसें इस प्रकार से बनी हुई होती हैं जिससे यह पेड़ की शाखों से खुद को जकड़ लेती हैं? जिससे रात को सोते समय भी चमगादड़ गिरता नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top